शुक्रवार, 26 अक्तूबर 2012

कितने रावण जलाओगे , हर घर में रावण छुपा है !

अभी हाल में पूरे देश में धूम धाम से रावण  का पुतला जलाया गया . समाचार पत्रों और टी ० वी० न्यूज चैनलों पर " बुराई पर अच्छाई की जीत " ," जीत गयी अच्छाई ", " हो गया बुराई का अंत "  जैसे जुमले प्रयोग हुए . लेकिन क्या सचमुच बुराई ख़त्म हो गयी ? बहुत पहले दशहरा पर एक कविता लिखी थी , जो शायद आज भी प्रासंगिक है . उस पर अपने विचार जरुर दें -
कितने रावण जलाओगे , हर घर में रावण छुपा है 
कितनी बार आग लगाओगे  , हर पग पर तम जाल बिछा है 
एक पुतला जल जाने से , सारा पाप नही मर जाता 
पुतले में आग लगाने से , हर नर राम नही बन जाता 
जब होगा अहम् , तब तक रावण नही मरेगा 
'अहम् ब्रम्हास्मी ' मरके भी यही कहेगा 
स्वार्थ, ईर्ष्या, घृणा , पाप चारो और यही मचा है  
कितने रावण जलाओगे , हर घर में रावण छुपा है 
हर दिन सीता का अपहरण हो रहा है 
पुलिस, प्रशासन कुम्भकरण सो रहा है 
गीध-जटायु ,मूक हुए , मनो सब छिपा है 
आज रावण एक नही , उसके रूप कई है 
अन्याय , अत्याचार के बाद भी , वह सही है 
मारते-मारते रावण को , आज राम भी थक  जायेंगे 
इतने रावण है , कि कई राम भी मार न पाएंगे 
कितने रावण जलाओगे , हर घर में रावण छुपा है 
कितनी बार आग लगाओगे  , हर पग पर तम जाल बिछा है 




8 टिप्‍पणियां:

  1. स्वार्थ, ईर्ष्या, घृणा , पाप चारो और यही मचा है
    कितने रावण जलाओगे, हर घर में रावण छुपा है,,,,,

    बहुत सुंदर भावमय पंक्तियाँ,,,,

    RECENT POST LINK ...: विजयादशमी,

    उत्तर देंहटाएं
  2. सच कहा....
    कैसे मारें इन लाखों सर वाले रावणों को...

    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  3. और असली रावण की रक्षा हो रही है

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच्चाई से सच का परिचय करवाती रचना सुन्दर रचना |

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर प्रस्तुति!
    ईद-उल-जुहा के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  6. कितने रावण जलाओगे , हर घर में रावण छुपा है

    आज की परिस्थितियाँ बिल्कुल ऐसी ही होती जा रही हैं.

    सुंदर प्रस्तुति.

    उत्तर देंहटाएं
  7. सच कहा....हर घर में रावण छुपा है

    उत्तर देंहटाएं

ab apki baari hai, kuchh kahne ki ...

orchha gatha

बेतवा की जुबानी : ओरछा की कहानी (भाग-1)

एक रात को मैं मध्य प्रदेश की गंगा कही जाने वाली पावन नदी बेतवा के तट पर ग्रेनाइट की चट्टानों पर बैठा हुआ. बेतवा की लहरों के एक तरफ महान ब...